About

“मेरे भावी मित्रो को सादर नमन” मेरे शब्दकोश में बस यही वाक्य है जिसमें व्यंग्य नही है। संदर्भित ब्लॉग से तो स्पष्ट ही है कि यहाँ आपको केवल हंसी-ठिठोली, हास्य-व्यंग्य की ही सामग्रियां मिलेंगी। ये सभी मेरे द्वारा विचारित व् लिखित अर्थात मौलिक रहेंगी। यदि किसी सामग्री से आप आहत होते हैं तो कृपया मुझसे अपना दुःख दर्द साझा करें, सीधे एफ.आई.आर. न करें।
यह ब्लॉग मेरी धर्मपत्नी को समर्पित है।